आज दिनांक 31/08/2022 को माननीय पुलिस महानिरीक्षक श्रीमती दीपिका सूरी , अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अवधेश प्रताप सिंह की गरिमामय उपस्थिति में पुलिस लाइन रक्षित केन्द्र नर्मदापुरम में संचालित आरक्षक से प्रधान आरक्षक इंडक्शन कोर्स का समापन किया गया समापन समारोह में नर्मदापुरम जिले के सभी एसडीओपी, निरीक्षक उपस्थित रहे कार्यक्रम का शुभारंभ श्री अवधेश प्रताप सिंह अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के उद्बोधन से हुआ । इंडक्शन कोर्स के 31 कार्य दिवस में प्रशिक्षण के दौरान आरक्षक से प्रधान आरक्षक के पद पर पदोन्नत पुलिस के 50 जवानों का दिनांक 29/08/22 को पेपर ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से कराए गए जिसमें दो पेपर हुए , प्रथम पेपर थाना प्रबन्धन एवं द्वितीय पेपर पुलिस प्रशासन, संगठन एवं व्यवहार विषय पर लिया गया । प्रोजेक्ट कार्य में अपराध विवेचना एवं जॉच विषय पर प्रोजेक्ट निर्माण कर मौखिक टेस्ट लिया गया निरी. प्रवीण कुमार एवं निरी. सुरेखा निमोद महिला थाना प्रभारी और si सुनील उइके द्वारा । , प्रशिक्षण में अपराध की विवेचना, थाना प्रबंधन, योग, परेड पीटी ,ध्यान, साईबर क्राइम, साईबर फोरेंसिक, FSL , फिंगर प्रिंट, तथा अन्य विषयों पर प्रशिक्षण दिया गया, इन्डक्शन कोर्स में एसडीओपी श्री पराग सैनी द्वारा क्राइम सीन , कमिश्नरी प्रणाली के बारे बताया । निरीक्षक हेमंत श्रीवास्तव, संतोष चौहान, पारुल श्रीवास्तव ,संजय चौकसे, ,सुरेश फरकाले, सूबेदार सूरज जमरा एवं विनय अडलक सभी ने पुलिस की विवेचना और फिल्ड के व्यावहारिक ज्ञान से अवगत कराया , सीसीटीएनएस का का प्रशिक्षण ट्रेनर रंजीत गोखले ने दिया । प्रशिक्षण अवधि के दौरान सभी को बाह्य प्रशिक्षण भी प्रदान किया गया । 1) बाह्य प्रशिक्षण के दौरान तवानगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत तवा डैम एच प्लांटजिला नर्मदापुरम तवा डैम, HEG पावर प्लांट का विजिट किया और वहां पर इलेक्ट्रिसिटी प्रोडक्शन through टरबाइन तथा तवा डैम की सुरक्षा प्रबंधन का इंतजाम देखा फ्लड मैनेजमेंट सीखा। 2) प्रशिक्षण के दौरान आजादी के 75वें अमृत महोत्सव मनाते हुए तिरंगा रेली निकली और “हर घर तिरंगा” लहराएं इस मैसेज को आम जनता तक पहुंचाया। रेली रक्षित केंद्र नर्मदापुरम से शुरू होकर मीनाक्षी चौक, एन एम बी तिराहा, सतरस्त चौक, पर जाकर समाप्त हुयी रैली का मुख्य उद्देश्य आम जनता को देश के सम्मान के लिए हर घर तिरंगा लहराने के लिए जागृत किया । 3) तिलक सिंदूर मेला व्यवस्था ड्यूटी एवं प्रधान आरक्षक के पद पर कार्य करते हुए थाना स्तर पर बल का डिस्ट्रीब्यूशन एवं व्यवस्था ड्यूटी कैसे लगाई जाती है । 4) सलकनपुर पहाड़ी पर ट्रैकिंग की एवं धार्मिक कार्यक्रमों में बल को किस प्रकार से डिस्ट्रीब्यूटर करना एवं धार्मिक भावनाओं से ओतप्रोत व्यक्तियों की भीड़ को (क्राउड को) कैसे कंट्रोल करना है …कहां कंट्रोल रूम बनाना है …भीड़ में बच्चों के खो जाने पर क्या कार्यवाही करना है ….भीड़ के उग्र होने पर क्या कार्रवाई करना है ….धार्मिक उन्माद फैलाने वाले व्यक्तियों को भीड़ मैं पहचान कर के कैसे कार्रवाई करना है एवं ऐसे व्यक्तियों को भीड़ से कैसे अलग करना है इन सभी बातों को प्रशिक्षण दिया गया । *पुलिस की व्यस्त दिनचर्या में तनाव एवं स्टेस से मुक्त रहने के लिए हार्टफुलनेस संस्था के माध्यम से रिलैक्सेशन ध्यान ,सफाई एवं प्रार्थना सिखाई गई जो क्रोध पर नियंत्रण करने में मदद करती है । प्रशिक्षण के समापन के अंत में श्रीमान पुलिस महा निरीक्षक महोदय ने अपने अनुभव प्रधान आरक्षको से शेयर किए एवं उनके द्वारा तैयार प्रोजेक्ट वर्क में किए गए कार्यों में अच्छे प्रोजेक्ट वर्क की तारीफ करते हुए चर्चा की । इसके उपरांत माननीय पुलिस महा निरीक्षक श्रीमती दीपिका सूरी द्वारा अपना उद्बोधन तथा जवानों से प्रशिक्षण के संबंध में जानकारी ली तथा आपसी वार्तालाप किया इसके बाद पुलिस महानिरीक्षक एवं समस्त अधिकारियों तथा इंडक्शन कोर्स के जवानों ने एक साथ मैं भोजन किया प्रशिक्षण कोर्स का समापन आभार सूबेदार श्री सूरज जमरा तथा श्री विनय अडलक जी द्वारा किया गया